Sandpaper Gate क्या है? फिर से सुर्खियों में आने की वजह,जाने पूरा मामला।

क्या है सेंड पेपर गैट प्रकरण।

केपटाउन के न्यूलैंड्स स्टेडियम पर साल 2018 मार्च में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीसरे टेस्ट में ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को गेंद पर सैंडपेपर रगड़ते पाया गया था। इसके बाद कोच डेरेन लीमैन ने इस्तीफा दे दिया जबकि तत्कालीन कप्तान स्टीवन स्मिथ, उप-कप्तान डेविड वार्नर और बल्लेबाज कैमरून बेनक्रोफ्ट पर बैन लगाया गया।

क्रिकेट आस्ट्रेलिया के मुख्य कार्यकारी जेम्स सदरलैंड और टीम परफार्मेंस निदेशक पैट हावर्ड को भी अपनी नौकरियां गंवानी पड़ी। समीक्षा में कहा गया, अधिकांश संबंधित पक्षों का मानना है कि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया अपने सिद्धांतों और मूल्यों पर लगातार अमल नहीं कर रहा है। उसकी कथनी और करनी में अंतर है। उसका रवैया अभिमानी और दूसरों पर काबू करने वाला है।’’

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के नए चेयरमैन डेविड पीवेर ने कहा, ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट के लिए ये कठिन समय है। गलतियां हुई है और सबक सीखे गए हैं। बदलाव का दौर जारी रहेगा।’’

फिर से सुर्खियों में आने की वजह?

ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर कैमरन बेनक्रॉफ्ट के बयान के बाद से सैंडपेपर गेट फिर से सुर्खियों में है। गेंद से छेड़खानी मामले में शामिल रहे इस क्रिकेटर ने बीते दिनों द गार्जियन को दिए इंटरव्यू में कहा था कि गेंदबाजों को इसकी जानकारी थी। इस बयान के बाद एक बार फिर लोग इसे लेकर फिर बात होने लगी है। अब इसे लेकर पूर्व ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज क्रिकेटर एडम गिलक्रिस्ट और माइकल क्लार्क ने बड़ी प्रतिक्रिया दी है।  

एडम गिलक्रिस्ट ने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया पर निशाना साधा ।

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व विकेटकीपर-बल्लेबाज एडम गिलक्रिस्ट ने कहा है, ‘क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को सैंडपेपर गेट की और अधिक गहन जांच करने की जरूरत थी। इसका कारण यह है कि यह मामला बार-बार उठता रहेगा। मुझे लगता है कि नाम बार-बार उठते रहेंगे। मुझे लगता है कि जब भी मौका मिलेगा कुछ लोग इस मुद्दे को उठाते रहेंगे । मेरे हिसाब से क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया इसके लिए जिम्मेदार है। अगर सीए को सख्त संदेश देना था तो उन्हें गहन जांच करके समस्या की जड़ के बारे में पता लगाने की कोशिश करनी चाहिए थी। मुझे नहीं लगता कि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ऐसा करना चाहता था। वे ज्यादा गहराई में नहीं जाना चाहते थे।’

माइकल क्लार्क का बयान।

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क ने कहा है कि इस बात से कोई भी हैरान नहीं होगा कि सैंडपेपर गेट के बारे में तीन से अधिक लोग जानते थे। उन्होंने कहा कि बेनक्रॉफ्ट के खुलासे से हैरान होने की जरूरत नहीं है। मुझे नहीं लगता कि कोई भी जिसने क्रिकेट खेला है या क्रिकेट के बारे में थोड़ा-बहुत जानता है वो इससे हैरान होगा कि तीन से अधिक लोग इसके बारे में जानते थे। वहीं सीए ने कहा है कि वो मामले की फिर से जांच करने के तैयार है, ताकि यह पता लगाया जा सके कि किसी और को भी इसकी जानकारी थी।

Also read- Battlegrounds mobile India registration kaise karen?

दूसरे गेंदबाजों को भी गेंद से छेड़खानी का पता था : बेनक्रॉफ्ट।

गेंद से छेड़खानी मामले में शामिल रहे कैमरन बेनक्रॉफ्ट का कहना है कि स्टीव स्मिथ, डेविड वार्नर और उनके अलावा ऑस्ट्रेलिया के बाकी गेंदबाजों को भी न्यूलैंड्स टेस्ट के दौरान की गई इस गलती की जानकारी थी। बेनक्रॉफ्ट को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 2018 में तीसरे टेस्ट के दौरान गेंद पर सैंडपेपर रगड़ते हुए कैमरे में कैद कर लिया गया था। उस घटना ने ऑस्ट्रेलिया और विश्व क्रिकेट को झकझोर दिया था। द गार्जियन को दिए इंटरव्यू में पूछा गया कि क्या बाकी गेंदबाजों को इसकी जानकारी थी, उन्होंने कहा, ‘हां। मैं इतना ही चाहता था कि अपनी हरकत और भूमिका को लेकर जवाबदेह और जिम्मेदार रहूं। निश्चित तौर पर मैंने जो किया उससे दूसरे गेंदबाजों को फायदा मिला और उन्हें इसकी जानकारी थी। यह अपने आप में स्पष्ट है।

न्यूलैंड्स टेस्ट में ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजी आक्रमण में मिशेल स्टार्क, पैट कमिंस, जोश हेजलवुड, मिशेल मार्श और स्पिनर नाथन लियोन शामिल थे। बेनक्रॉफ्ट ने कहा कि वह चाहते थे कि उनके साथी खिलाड़ी उन्हें पसंद करें और इसी वजह से उन्होंने अपने मूल्यों के साथ समझौता किया।

क्रिकेट ऑस्ट्रलिया की पहले भी हो चुकी है निंदा।

ऑस्ट्रेलिया के बदनाम सैंडपेपर गेट मामले की हाल ही में जारी हुई एक स्वतंत्र समीक्षा रिपोर्ट में क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के अभिमानी’ और दूसरों पर काबू करने वाले ’ रवैये की निंदा की गई है। रिपोर्ट में कहा गया है कि इसी स्वभाव की वजह से जीत के लिए खिलाड़ी धोखेबाजी तक पर आमादा हो गए।

सिडनी के एथिक्स सेंटर ने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया पर आरोप लगाया कि खेल भावना बनाए रखने के लिए उसने सिर्फ बातें की है लेकिन खिलाड़ियों को नैतिकता का पाठ नहीं पढाया। सोमवार को प्रकाशित समीक्षा में कहा गया, न्यूलैंड्स में हुई शर्मनाक घटना के लिए सिर्फ खिलाड़ियों को कसूरवार नहीं ठहराया जा सकता। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की बड़ी जिम्मेदारी है।’’

Also read – Adar Poonawala कौन हैं? Biography,worth.

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Comment