पुष्कर सिंह धामी बायोग्राफी हिंदी में। पुष्कर सिंह धामी की जीवनी।

आखिरकार उत्तराखंड के नए मुख्यमंत्री का ऐलान हो गया है. पूर्व तीरथ सिंह रावत के इस्तीफे के बाद बीजेपी विधायक दल की बैठक हुई, जिसमें पुष्कर सिंह धामी को उत्तराखंड का नया मुख्यमंत्री बनाने पर सहमती बनी है.…

कौन है पुष्कर सिंह धामी (Who is Pushkar Singh Dhami)

पुष्कर सिंह धामी उत्तराखंड में भाजपा के कद्दावर नेताओं में से एक है. पुष्कर सिंह धामी वर्तमान में खटीमा से विधायक भी है. पुष्कर सिंह धामी दो बार खटीमा से विधायक रह चुके है. इसके अलावा पुष्कर सिंह धामी उत्तराखंड बीजेपी युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष रहे हैं.

पुष्कर सिंह धामी का प्रारंभिक जीवन।

जन्म तिथि : 16.09.1975
विधान सभा का नाम : 70, विधान सभा क्षेत्र, खटीमा
माता का नाम : विश्ना देवी
पत्नी का नाम : गीता धामी
शैक्षिक योग्यता : स्नातकोत्तर, व्यावसायिक – मानव संसाधन प्रबंधन और औद्योगिक में मास्टर
राजनितिक दल का नाम : भारतीय जनता पार्टी

पुष्कर सिंह धामी का जन्म जनपद पिथौरागढ़ की ग्राम सभा टुण्डी, तहसील डीडीहाट में हुआ है। वह एक साधारण परिवार से आते हैं। उनकी शिक्षा सरकारी स्कूल में हुई है।

पुष्कर सिंह धामी को क्यों बनाया मुख्यमंत्री

पुष्कर सिंह धामी को मुख्यमंत्री बनाने की पीछे उनकी छवि है. अपनी तीन महीने की सरकार में तीरथ सिंह रावत ने अपने बयानों से भाजपा की जमकर फजीहत करवाई है. इसी को देखते हुए इस बार पुष्कर सिंह धामी को मुख्यमंत्री बनाया जा रहा है. पुष्कर सिंह धामी हमेशा विवादों से दूर है.

पुष्कर सिंह धामी की जीवनी (Pushkar Singh Dhami Biography)

पुष्कर सिंह धामी का जन्म 16 सितंबर 1975 को पिथौरागढ के टुण्डी गांव में हुआ था. पुष्कर सिंह धामी के पिता (Pushkar Singh Dhami’s father) का नाम स्वर्गीय सेवानिवृत्त सूबेदार शेर सिंह धामी है. पुष्कर सिंह धामी की माता का नाम श्रीमती विश्ना देवी है. पुष्कर सिंह धामी की पत्नी (Pushkar Singh Dhami wife) का नाम श्रीमती गीता धामी है.

पुष्कर सिंह धामी की शिक्षा (Pushkar Singh Dhami Education)

पुष्कर सिंह धामी ने अपनी स्कूली शिक्षा और स्नातकोत्तर की पढ़ाई पूरी करने के बाद मानव संसाधन प्रबंधन और औद्योगिक संबंध में मास्टर्स किया है.

पुष्कर सिंह धामी का राजनीतिक जीवन (Pushkar Singh Dhami Political Life)

पुष्कर सिंह धामी ने अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से की थी. वह ABVP में अलग-अलग पदों पर काम कर चुके हैं. पुष्कर सिंह धामी साल 2002 से साल 2008 तक उत्तराखंड बीजेपी युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष रहे हैं. इसके अलावा पुष्कर सिंह धामी साल 2010 से 2012 तक शहरी विकास परिषद के उपाध्यक्ष रहे. पुष्कर सिंह धामी पहली बार साल 2012 में खटीमा विधानसभा क्षेत्र से चुनाव जीतकर विधायक बने.

उन्होंने 1990 से 1999 तक जिले से लेकर राज्य एवं राष्ट्रीय स्तर तक अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद में विभिन्न पदों में रहकर विद्यार्थी परिषद में कार्य किया। कुशल नेतृत्व क्षमता, संधर्षशीलता एवं अदम्य सहास के कारण वह दो बार भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष रहे। 2002 से 2008 तक लगातार पूरे प्रदेश में जगह-जगह भ्रमण कर युवा बेरोजगार को संगठित कर उन्होंने कई विशाल रैलियां एवं सम्मेलन आयोजित किये।

परिणाम स्वरूप तत्कालीन प्रदेश सरकार से स्थानीय युवाओं को राज्य के उद्योगों में 70 प्रतिशत आरक्षण दिलाने में सफलता प्राप्त की। इसी क्रम में उन्हाेंने दिनांक 11 जनवरी 2005 को प्रदेश के 90 युवाओं के साथ विधानसभा का घेराव करने के लिए ऐतिहासिक रैली आयोजित की गई। जिसे युवा शक्ति प्रदर्शन के रूप में उदाहरण स्वरूप आज भी याद किया जाता है।

भाजपा सरकार में 2010 से 2012 तक शहरी विकास अनुश्रवण परिषद के उपाध्यक्ष के रूप में कार्यशील रहते हुए उन्होंने क्षेत्र की जनता की समस्याओं का समाधान किया। 2012 के विधानसभा चुनाव में उन्होंने जीत दर्ज की। वर्तमान में वह खटीमा विधानसभा सीट से विधायक हैं।

Also read – World’s third largest cricket stadium in jaipur.Know details.

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Comment